top of page
  • लेखक की तस्वीरSPS Community Media

कमलापूर की कमला दीदी

नोट - पॉडकास्ट सुनने के लिए कृपया नीचे त्रिकोण (▶) को दबाये |

सारांश - कमलापुर की कमला दीदी की कहानी उन सभी महिलाओं के संघर्ष को उजागर करती है जो सभी बचत समूह से जुड़कर अपने संघर्ष के बल पर अपने परिवारों को बंधुआ मजदूरी के दलदल से निकालने की कोशिश कर रही हैं । वे अपने इलाके के आदिवासी बेरोजगार और भूमिहीन लोगों के उस पहलू को सबके सामने रखती हैं जिस कारण उन्हें बंधुआ मजदूरी जैसे काम पर आश्रित होना पड़ता है। इसके साथ ही वे महिलाओं की शिक्षा के महत्त्व को समझाती हैं कि कैसे कमला दीदी अपनी शिक्षा और विवेक के बल पर समूह से जुड़ती हैं और अपने पति को बंधुआ मजदूरी से छुड़ाती हैं। उन्होंने स्वयं मजदूरी कर मितान बनने तक का सफर अपने बल पर पूरा किया था।


Research: Anant Dass Sahni

Voice: Kamla Jamle

Sound Recording: Shaikh Sajid, Anant Dass Sahni

Sound Design: Pradeep Lekhwar, Shaikh Sajid

Sound Mixing: Pradeep Lekhwar

Art Design: Varsha Ransore

Drawing: Roshani Chouhan, Sangeeta Randhawa, Anant Dass Sahni, Iqbal Hussain,

Aajad Singh, Sandeep Bhati, Abhishek Chouhan, Karan Bachaniya

Mentor & Guide: Pinky Brahma Choudhury




32 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

सुखमा

मुमताज

गौरा

bottom of page